Motivational Poems

Mt. Everest (Pic Credit : Nivedita)

प्रतीक दृढ़ता का ।

पहाड़ों पर सफ़ेद मलमल बिछाए कोमल काया, हाथ में धरो तो पिघल जाए यह माया । आसमान तक सफ़ेद चाँदी की परत ओढ़े, सितारों की तरह चमकता यह माया। जैसे श्वेत रत्नों से सजा यह अटल काया, दृढ़ता का संकल्प लिये मीलों तक खड़ा यह हिमालया । पवित्रता की शान, अचल आत्म सम्मान समान, आत्मानुभूती …

प्रतीक दृढ़ता का । Read More »

Mera wajood

मेरा वजूद ।

ना मैं उदास हूँ , ना ग्लानि में ,ना मैं  संतप्त हूँ , ना उद्विग्न । मुझे ना किसी मंज़िल की तलाश,ना किसी  मुकाम की चाह । मैं तो उस पथ का राही हूँ, जहाँ सिर्फ़ चलना  मेरा कर्तव्य है । क्योंकि -‘ मेरा वजूद मेरे  अव्यक्त से है ‘। मेरा अव्यक्त अपने आप में …

मेरा वजूद । Read More »

उम्मीद..

कुछ भी हो हालात ,उम्मीद जिन्दा रखनी हैअपने दूर हो, या पास उम्मीद जिन्दा रखनी है| दर्द ए.गम कितना सताए ,जिन्दगी बोझिल नजर आएफिर भी न हो के उदास उम्मीद जिन्दा रखनी है| खुद को जो पाओ , मुसीबतों की खाई मे न दिखे कोई बरकत,जो बरसों की कमाई मे देखकर बच्चो की मुसकान,उम्मीद जिन्दा रखनी है| कोई …

उम्मीद.. Read More »