Lifestyle

Manthan

मंथन

संभवतः ‘ मन का मनन’ इस प्रकृति में अन्य जीवों से मनुष्य को अलग करता है l मन के मनन से ही भाषा का प्रादुर्भाव है और भाषा मानवता की जरूरत है l मन से ही आनंद, पीड़ा ,भय , कुंठा ,क्रोध ,आशा, निराशा, प्रेम, दया, मोह आदि अनुभूतियों का ज्ञान होता है l इन …

मंथन Read More »